Name of Schemes

विभाग द्वारा संचालित प्रमुख योजनाऐं

01

प्रदेश के समस्त जिला मुख्यालयों को 4 लेन मार्ग से जोड़ना

51 जनपद 4 लेन / 2 लेन + पेव्ड शोल्डर द्वारा संतृप्त

19 जनपदों में 4 लेन / 2 लेन + पेव्ड शोल्डर का कार्य प्रगति पर

5 जनपदों (मऊ, गाजीपुर, सुल्तानपुर, कन्नौज, एवं एटा) का कार्य एन0एच0ए0आई0 द्वारा अंगीकृत एवं प्रगति पर।

02

राज्य योजना के अन्तर्गत मार्गों का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण

राज्य राजमार्गों की चौड़ीकरण सुदृढ़ीकरण योजना

प्रमुख/अन्य जिला मार्गों की चौड़ीकरण सुदृढ़ीकरण योजना

व्यापार विकास निधि योजनान्तर्गत चौड़ीकरण सुदृढ़ीकरण योजना

कोर रोड नेटवर्क के मार्गों की चौड़ीकरण सुदृढ़ीकरण योजना

1 लाख से अधिक आबादी के शहरों हेतु बाईपास योजना

राज्य सड़क निधि योजनान्तर्गत मार्गों की चौड़ीकरण सुदृढ़ीकरण योजना

उक्त योजनाओं के अन्तर्गत राज्य राजमार्गों के 1850 किमी0 लम्बाई, लागत रू0 2412 करोड़ के 81 कार्य एवं प्रमुख तथा अन्य जिला मार्गों के 7400 लम्बाई, लागत रू0 13500 करोड़ के 546 कार्यों के चौड़ीकरण एवं सृदृढ़ीकरण प्रगति पर है।

03

सेतु निर्माण

विभाग द्वारा वर्ष 2016-17 में रू0 5862.63 करोड़ की लागत से 320 दीर्घ सेतु (95 रेल उपरगामी सेतु सहित), 240 लघु सेतु एवं 9 पान्टून सेतु निर्माणाधीन हैं, जिसके सापेक्ष 70 दीर्घ सेतु, 100 लघु सेतु एवं 39 उपरगामी सेतुओं को पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है।
04 नाबार्ड सहायतित परियोजना
नाबार्ड द्वारा वर्ष 1995-96 से ग्रामीण क्षेत्रों के मार्गों एवं सेतुओं के निर्माण व उच्चीकरण हेतु लागत के 80 प्रतिशत ऋण उपलब्ध्ण कराया जाना प्रारम्भ हुआ
ग्रामीण मार्गों का निर्माण - वर्ष 2013-14 तक  12571 मार्ग पूर्ण किये गये।
प्रमुख एवं अन्य जिला मार्गों का चोड़ीकरण एवं सृदृढ़ीकरण - वर्ष 2013-14 से 2016 तक 144 कार्य (लम्बाइ 1347 किमी0) पूर्ण एवं 42 कार्य (लम्बाई 463 किमी0) के कार्य प्रगति पर।
05 विश्व बैंक सहायतित परियोजना 
परियोजना की कुल लागत - 570 मिलियन यू0एस0 डालर (रू0 3700 करोड़)
70 प्रतिषत अर्थात् 400 यू0एस0 डालर (रू0 2600 करोड़) विष्व बैंक द्वारा सहमत तथा 30 प्रतिषत (रू0 1100 करोड़) का व्यय राज्य सरकार द्वारा।
प्रथम चरण में चिन्हित मार्ग/परियोजना
गरौठा-चिरगांव मार्ग (अनुबन्ध गठित)
हमीरपुर-राठ मार्ग (पुनः निविदा आमंत्रित की जानी है)
गोला- शाहजहांपुर मार्ग (पुनः निविदा आमंत्रित की जानी है)
बदायूं-बिल्सी मार्ग (पुनः निविदा आमंत्रित की जानी है)
द्वितीय चरण में चिन्हित मार्ग/परियोजना
राठ-गरौठा मार्ग का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण (डी0पी0आर0 गठन की कार्यवाही की जा रही है)
पानीपत खटीमा मार्ग का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण (डी0पी0आर0 गठन की कार्यवाही की जा रही है)
शारदा नदी पर लगभग 5 किमी0 लम्बाई में वृहद सेतु का निर्माण (डी0पी0आर0 गठन की कार्यवाही की जा रही है)
261 किमी0 लम्बाई में लागत रू0 1249 करोड़ की परियोजना स्वीकृत एवं प्रगति पर।
06

एशियन विकास बैंक सहायतित परियोजना

परियोजना की कुल लागत - 428 मिलियन यू0एस0 डॉलर (रू0 2782 करोड़)

70 प्रतिशत अर्थात् 300 यू0एस0 डालर (रू0 1950 करोड़) एशियन डेवलेपमेंट बैंक द्वारा सहमत तथा 30 प्रतिशत 128 मिलियन यू0एस0 डालर     (रू0 832 करोड़) का व्यय राज्य सरकार द्वारा।

प्रथम चरण में चिन्हित मार्ग/परियोजना 

हुसैनगंज हाथगांव औरेया अलीपुर मार्ग (निविदा स्वीकृत)

ननऊ ददऊ मार्ग (निविदा स्वीकृत)

मुजफ्फरनगर बढौत मार्ग (निविदा की प्रक्रिया में)
हलियापुर कूड़ेभार बेलवई मार्ग (निविदा स्वीकृत)
बुलन्दशहर अनूपशहर डिबाई चौक     (निविदा प्राप्त)
द्वितीय चरण में चिन्हित मार्ग/परियोजना
कप्तानगंज हाटा गौरी बाजार रूद्रपुर कप्तानगंज नौरंगिया मार्ग      (डी0पी0आर0 परीक्षणाधीन)
अलीगंज सोरोन मार्ग                   (निविदा की प्रक्रिया में)
मोहनलालगंज मौरावा मार्ग             (निविदा की प्रक्रिया में)
ग्रामीण मार्ग
जिला योजना
डा0 राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना
व्यापार विकास निधि योजना
नक्सल योजना

स्पेशल कम्पोनेंट प्लान योजना

उपरोक्त योजनाओं के अन्तर्गत ग्रामीण मार्गों का निर्माण प्रगति में है। वर्ष 2017 में कुल लम्बाई 6139 किमी0 के 4659 मार्ग रू0 2845 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन है।
पूर्वान्चल/बुन्देलखण्ड विकास निधि
पूर्वांचल (30 जनपद) एवं बुन्देलखण्ड (7 जनपद) जैसे पिछड़े क्षेत्रों के लिए विशेष योजना कार्यान्वित है।
योजना के अन्तर्गत सम्पर्क मार्ग, खडंजा, विद्युतिकरण, पेयजल व्यवस्था, सामुदायिक भवन, शौचालय, गौषाला, अतिथि गृह, चेकडैम, सामुदायिक नलकूप, स्ट्रीट लाईट, ओवरहैड टैंक इत्यादि कार्य का प्राविधान।
अनुदान सं0 56 तथा अनुदान सं0 83 (स्पेशल कम्पोनेंट प्लान) के अधीन बजट व्यवस्था की जाती है।
भारत सरकार द्वारा पोषित
इण्डो-नेपाल बार्डर रोड परियोजना
भारत-नेपाल सीमा पर सशस्त्र सीमा बल की चौकियों को आपस में जोड़ने हेतु लगभग 575 किमी0 लम्बाई में मार्ग निर्माण हेतु भारत सरकार से अनुमोदन प्राप्त।
भारत सरकार द्वारा निर्माण हेतु अनुमोदित धनराषि 1621 करोड़, राज्य सरकार द्वारा परियोजना में भूमि अध्याप्ति  का व्यय वहन किया जाएगा।
257 किमी0 लम्बाई में लागत रू0 736 करोड़ की परियोजना स्वीकृत एवं प्रगति पर।
केन्द्रीय मार्ग निधि
भारत सरकार द्वारा इस निधि के अन्तर्गत राज्यों के क्षेत्रफल एवं ईंधन की खपत इत्यादि के अनुसार अंष निर्धारित किये जाने का प्राविधान
केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेश हेतु सामान्यतः रू0 225 करोड़ प्रति वर्ष की प्रतिपूर्ति
योजना के अन्तर्गत 83 कार्य लम्बाई 1643.37 किमी0, लागत रू0 2977 करोड़ की परियोजना प्रगति पर।
स्वीकृत योजनाओं को पूर्ण करने हेतु वांछित धनराषि - रू0 2500 करोड़
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना
योजना के अन्तर्गत निर्धारित मानकों के अनुसार बसावटों के आच्छादन का प्रदेश का लक्ष्य पूर्ण।
43 जनपदों में लोक निर्माण तथा 32 जनपदों में ग्रामीण अभियन्त्रण विभाग को निर्माण का उत्तरदायित्व।
वित्तीय वर्ष 2015-16 से भारत सरकार द्वारा केन्द्रांष तथा राज्य सरकार का अनुपात 60:40 निर्धारित।
वर्ष 2016-17 में 393 मार्गों की 3165 किमी0 लम्बाई का उच्चीकरण/सुधार लागत रू0 1854 करोड़ स्वीकृत।

राष्ट्रीय मार्गो का अनुरक्षण एवं उच्चीकरण (लो0नि0वि0 द्वारा)

आयोजनेत्तर (नान-प्लान)  

कुल राष्ट्रीय मार्गो की संख्या                        - 48

लो0नि0वि0 के अधीन कुल लम्बाई               - 3100 किमी0

एन0एच0ए0आई0 के अधीन कुल लम्बाई        - 4500 किमी0

नान-प्लान के अन्तर्गत वर्ष 2015-16 व 2016-17 में 28 स्वीकृत कार्यो लागत रू0 246.27 करोड़ के सापेक्ष 17 कार्य पूर्ण तथा 11 कार्य प्रगति में।

आयोजनागत (प्लान) 
वर्ष 2015-16 व 2016-17 में कुल 24 कार्य लागत रू0  4900.61 करोड़ की स्वीकृति के सापेक्ष 01 कार्य पूर्ण तथा शेष 23 कार्य प्रगति में।
एन0एच0डी0पी0 योजना
प्रदेश में कुल 04 मार्गों लागत रू0 1703.31 करोड़
बाराबंकी से जरवल मार्ग-एन0एच0-28 सी. (43 किमी0) - रू0 358.47 करोड़ (प्रगति में)
जरवल मार्ग से बहराईच मार्ग-एन0एच0-28 सी. (50 किमी0) - रू0 337.58 करोड़ (पूर्ण)

बहराईच - रूपहडिया मार्ग-एन0एच0-28 सी.(51.20 किमी0) - रू0 437.92 करोड़ (पूर्ण)

सौनोली से गोरखपुर मार्ग-एन0एच0-29 ई.(80 किमी0) - रू0 569.34 करोड़ (प्रगति में)
नवघोषित राष्ट्रीय मार्ग - कुल 10 मार्गों को राष्ट्रीय मार्ग घोषित करने हेतु नोटिफिकेशन निर्गत
06 राष्ट्रीय मार्ग हेतु इन्ट्रस्टमेन्ट। 
04 राष्ट्रीय मार्ग के इन्ट्रस्टमेन्ट अपेक्षित।
2584 किमी0 के कुल 35 मार्गो को राष्ट्रीय मार्ग घोषित करने हेतु सैद्धान्तिक सहमति गजट नोटिफिकेशन अपेक्षित।

भवन

प्रदेश के अन्य विभागों द्वारा प्रदत्त भवनों, निरीक्षण भवनों एवं सर्किट हाउस तथा पूल्ड आवास इत्यादि भवनों का निर्माण।
राज्य के महत्वपूर्ण भवनों यथा उच्च न्यायालय भवन, विधान भवन, राज्य सम्पत्ति विभाग के आवासीय भवन, प्रदेष के समस्त निरीक्षण भवनों एवं सर्किट हाउस का अनुरक्षण।  
राज्य सरकार के अधीन निर्माण किये जा रहे भवनों का मानकीकरण।